प्रशासन की सबसे बड़ी चिन्ता का विषय आज घर वापस आ रहे प्रवासी बनते नजर आ रहे है।

नई टिहरी : जंहा पुरे उत्तराखण्ड राज्य मे कोरोना वायरस विस्पोट के रूप मे सामने आने लगा है एकाएक सुरक्षित देवभुमी असुरक्षित सी नजर आने लगी है।

वंही प्रशासन की सबसे बड़ी चिन्ता का विषय आज घर वापस आ रहे प्रवासी बनते नजर आ रहे है। प्रशासन लगातार बाहर से आ रहे प्रवासियो से इस कोरोना काल मे धैर्य रखने, क्वारन्टाइन मे रहने नियमो का पालन करने की अपील कर रहा है क्योंकी वापस घर आ रहे प्रवासियों की छोटी सी गलती बहुत भारी पड सकती है।

प्रत्येक दिन घर वापस आने वालो की संख्या बढ रही है अब तक टिहरी जिले मे 23265 लोग वापस आ चुके है जिनकी व्यवस्था बनाने व करने मे प्रशाशन को भी भारी दिक्कतो का सामना करना पड रहा है।

बात की जाय तो टिहरी जनपद मे सबसे ज्यादा प्रवासी भिलंगना घनसाली व प्रतापनगर के है जो वापस गांव आ रहे है।

कोरोना संकट की इस विकट घडी मे टिहरी गढवाल के मुख्यविकास अधिकारी अभिषेक रुहेला ने बताया की इस समय पर जितने भी रेड जोन से प्रवासी वापस अपने गांव आ रहे है उनके हाथ मे पुरे गांव व क्षेत्र की सुरक्षा है उन्हे संकट के इस भयावह दौर मे धैर्य बनाए रखने की आवश्यकता है व क्वारन्टीन मे रहकर नियमो के तहत रहने की आवश्यकता है तभी कोरोना के इस संकट से निपटने मे हम सफल हो पांएगें उन्होने बताया की प्रशाशन पुर्ण रूप से अभी प्रवासियो के साथ खडा है।

Spread the love