ये खबर आपके लिए ,बंदरों के आतंक से मुक्ति दिलाएगी ये खास बंदूक

लम्बे समय  से पहाड़ी जिलों में बंदरों का आतंक दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है और बंदर फसल और बागबानी को चौपट कर रहे हैं. पहाड़ में खेती अब जिस तरह घाटे का सौदा हो चुकी है उसमें जंगली जानवरों – ख़ास तौर से बंदरों की मुख्य भूमिका है. (Carbide Gun For Farmers)

बंदरों ने ऐसा आतंक मचा रखा है  कि जंगल  खेती तो छोडडो बंदर घरों के अंदर दस्तक देने लगे हैं. गाँवों, मोहल्लों में लोगों पर हमला कर रहे हैं.

बंदरों के आतंक से छुटकारा दिलाने के लिए अल्मोड़ा के विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने एक खास बंदूक तैयार की है. पहाड़ में जो भी लोग सुबह से शाम तक बंदरों से फसल या घरों में रखे सामान की हिफाजत करने के लिए पहरेदारी किया करते हैं उन लोगों के लिए ये बंदूक बेहद खास और कारगर है.

इस बंदूक की सबसे बड़ी खास बात यह है कि इससे बंदर मारे नहीं जाएंगे. इसकी आवाज से बंदर डराए जाएंगे. लंबे समय से कई ट्रायल के बाद वैज्ञानिकों ने बंदरों को भगाने के लिए ये विशेष बंदूक तैयार की है.

अगले माह विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, अल्मोड़ा में इसका फाइनल ट्रायल किया जायेगा. इसके बाद बंदूक आम लोगों के लिए उपलब्ध करा दी जायेगी.

विवेकानंद पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने कार्बाइड (फलों को पकाने वाला रसायन) बंदूक तैयार की है. इस बंदूक के लिए बकायदा कार्बाइड की गोली भी तैयार की गयी है. यह गोली एक मानक के अनुसार पानी मिलाने पर बंदूक में मौजूद लाइटर से जलने पर तेज आवाज करेगी. यह आवाज बंदरों को भयभीत करती है और आवाज सुन बंदर भाग जाते हैं.

वैज्ञानिकों ने यह भी दावा किया कि बीते एक साल में जिन स्थानों में बंदूक का ट्रायल किया गया. उन क्षेत्रों में बंदरों का आतंक बेहद कम हो गया. लिहाजा उन्होंने बंदूक को और ज्यादा अपडेट कर दिया है. इसे जल्द ही लोगों को उपलब्ध करवाया जायेगा.

Spread the love