उत्तराखंड से अन्य राज्यों में जाने के लिए 48907 पंजीकरण हो चुके हैं। इसके सापेक्ष 44128 लोगों को वापस भेजा जा चुका है। इन राज्यों से वापस पहुंचे लोग

दिल्ली भेजी 100 बसें, केवल 25 बसों लायक ही मिले यात्री
, देहरादून: प्रदेश सरकार ने घर वापसी करने वाले लोगों को क्वारंटाइन करने में कुछ सख्ती की तो इसका असर वापसी करने वाले यात्रियों पर नजर आने लगा है। यही कारण रहा कि सोमवार को तकरीबन तीन हजार यात्रियों को वापस लेने के लिए गई बसों में से 75 को यात्री न मिलने के कारण दिल्ली में ही रुकना पड़ा। यहा से लगभग 700 यात्रियों को लेकर बसें वापस उत्तराखंड वापस लौट रही हैं। वहीं, प्रदेश में वापसी के लिए अभी तक 249806 लोगों ने पंजीकरण कराया है। इसके सापेक्ष अभी तक 160,019 घर वापसी कर चुके हैं। तिरुअनंतपुर से यात्रियों को लेकर चली ट्रेन मंगलवार सुबह हरिद्वार पहुंच जाएगी। सोमवार देर रात पुणे से एक ट्रेन यात्रियों को लेकर काठगोदाम के लिए रवाना हुई।
प्रवासियों की घर वापसी के बाद कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों पर सरकार ने सख्ती दिखाई है। अब रेड जोन से आने वालों को संस्थागत क्वारंटाइन और शेष को सख्ती से होम क्वारंटाइन किया जा रहा है। ऐसे में अब बाहर से आने वाले भी वापसी करने से पहले सोचने लगे हैं। इसका नजारा सोमवार को नई दिल्ली में देखने को मिला। यहा पंजीकृत लोगों की संख्या को देखते हुए पहले चरण में तीन हजार लोगों को वापस लाने के लिए 100 बसें भेजी गई। पंजीकृत लोगों को इसकी जानकारी भी फोन व एसएमएस के जरिये दी गई। जब बसें वहा पहुंची तो केवल वहा 700 यात्री ही वापसी के लिए खड़े थे। काफी देर इंतजार करने के बाद दोपहर बाद 25 बसें उत्तराखंड को रवाना हुई। इसमें 19 बसें कुमाऊं मंडल और छह बसें गढ़वाल मंडल आ रही हैं। अब मंगलवार को एक बार फिर पंजीकृत यात्रियों से संपर्क कर उन्हें बसों के संबंध में जानकारी दी जाएगी। वहीं,ट्रेन के माध्यम से भी यात्रियों को वापस लाया जा रहा है। जल्द ही जयपुर से काठगोदाम और दिल्ली से हरिद्वार व काठगोदाम स्पेशल ट्रेन चलाई जानी प्रस्तावित है। इसके अलावा उत्तराखंड से अन्य राज्यों में जाने के लिए 48907 पंजीकरण हो चुके हैं। इसके सापेक्ष 44128 लोगों को वापस भेजा जा चुका है। इन राज्यों से वापस पहुंचे लोग
दिल्ली-58266,उत्तर प्रदेश-24902,हरियाणा-23759, महाराष्ट्र-9894,चंडीगढ़-9568,पंजाब-9439,राजस्थान- 8923,गुजरात-7957,कर्नाटक-5770 व अन्य राज्य 1451 राज्य के भीतर 118912 गए दूसरे जिलों में। प्रदेश में अभी तक 118912 लोग एक-दूसरे जिलों में गए हैं। इनमें से 58859 अपने गृह जिलों में वापस आए हैं। इनमें सबसे अधिक 13537 चमोली,11419 रुद्रप्रयाग व 6637 पौड़ी वापस आए हैं। वहीं 60053 दूसरे जिलों में गए हैं। सबसे अधिक 14361 देहरादून,13006 हरिद्वार और 11936 लोग पौड़ी से अपने गृह जिलों को गए हैं।

Spread the love

You may have missed