लिंगानुपात रिपोर्ट प्रस्तुत न करने पर बिफरी डीएम सोनिका बैठक को बीच में ही स्थगित कर जताई नाराजगी।

नई टिहरी। डीएम सोनिका ने पीसीपीएनडीसी (प्रसव पूर्व लिंग चयन निषेध अधिनियम) के तहत गठित जिला सलाहकार समिति की बैठक में लेेते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए वृहद कार्य योजना बनाई जाए। उन्होंने ब्लॉकवार लिंगानुपात की रिपोर्ट प्रस्तुत न करने और लिंगानुपात को बराबर करने के लिए कोई ठोस कार्य योजना पर डीएमए बिफर गई और उन्होंने बीच में ही बैठक स्थगित करते हुए अपनी नाराजगी प्रकट की।
बुधवार को जिला सभागार में आयोजित बैठक में डीएम ने कहा कि बना कार्य योजना के पीसीपीएनडीटी बैठक का कोई औचित् नहीं है। उन्होंने आदर्श दंपति योजना के तहत मात्र एक ही दंपति को पुरष्कृत किये जाने पर को गंभीरता से लेते हुए एक पखवाड़े में और आदर्श दंपत्ति खोजने के निर्देश दिए। बताया कि ऐसे दंपति जिन्होंने पहली अथवा दूसरी पुत्री के जन्म के बाद नसबंदी करवा ली हों, को इस योजना के तहत पांच हजार का नकद पुरूष्कार दिया जाता है। नरेंद्रनगर और जिला अस्पताल में अल्ट्रासाउंड मशीन लगाए जाने के संबंध में स्वास्थ्य सचिव को पत्र भेजने में देरी करने पर उन्होंने सीएमओ डा. भागीरथी जंगपांगी को कड़ी फटकार लगाई। इस मौके पर एसीएमओ मनोज वर्मा, गायनो डा. अर्चना, रेडियोलॉजिस्ट व प्रभारी सीएमएस डा. यतेंद्र सिंह, राष्ट्रीय महिला कल्याण संस्था की अध्यक्ष निर्मला बिष्ट आदि उपस्थित थे।

Spread the love