मुख्यमंत्री ने श्रीनगर मेडिकल कालेज की व्यवस्था के साथ ही पौङी जिले में कोविड-19 से बचाव के लिए किये जा रहे कार्यों की जानकारी ली।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आज श्रीनगर गढ़वाल स्थित वीर चंद्र सिंह गढ़वाली राजकीय मेडिकल कॉलेज में अधिकारियों के साथ कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने श्रीनगर मेडिकल कालेज की व्यवस्था के साथ ही पौङी जिले में कोविड-19 से बचाव के लिए किये जा रहे कार्यों की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि बाहर से आने वाले लोगों की मानकों के अनुसार टेस्टिंग हो। सेनेटाइजेशन की पूरी व्यवस्था हो। क्वारेंटाईन के नियमों का अक्षरशः पालन हो। इसका उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। ग्राम प्रधानों को हर सम्भव सहायता दी जाए। गरीबों और बाहर से आने वालों के लिए राशन की कमी न हो। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि अपने घर से बाहर निकलने पर लोग मास्क का उपयोग अनिवार्यता से करें। लोगों को निरंतर जागरूक किया जाए। किसी भी तरह की आवश्यकता होने पर शासन को तत्काल अवगत कराया जाए।

बताया गया कि हेमवती नंदन बहुगुणा बेस चिकित्सालय में बैड क्षमता को 500 से बढाकर 700 कर दिया गया है। अस्पताल परिसर को दो भागों में विभाजित किया गया है। 200 बैड कोविड-19 के लिए और 500 बैड नाॅन कोविड-19 के लिए रखे गए हैं। 200 बैडेड कोविड ब्लाक में ही सस्पेक्टेड व कन्फ़र्म वार्ड भारत सरकार के दिशा-निर्देशो के अनुरूप तैयार किए गए हैं।

बैठक में उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ धनसिंह रावत, सचिव श्री अमित नेगी, जिलाधिकारी पौङी श्री धीरज सिह गर्ब्याल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डी एस कुंवर, मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु खुराना, सीएमओ डॉ मनोज बहुखंडी, प्राचार्य डॉक्टर चंद्र मोहन सिंह रावत, चिकित्सा अधीक्षक बेस अस्पताल डॉ के पी सिंह, प्रोफेसर डॉ के एस बुटोला सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *