टिहरी के जिलाधिकारी, सीडीओ और एसएसपी सहित अन्य अधिकारियों की संवेदनशीलता पर पानी फेरते हैं ऐसे अधिकारी।

टिहरी (पवन नैथानी)

टिहरी के जिलाधिकारी, सीडीओ और एसएसपी सहित अन्य अधिकारियों की संवेदनशीलता पर पानी फेरते हैं ऐसे अधिकारी।उम्मीद है कि डीएम साहिबा और अन्य जिम्मेदार अधिकारी भी सुनेंगे ।इंजीनियर निर्मल नेगी जी को और जिम्मेदार अधिकारियों पर नजर रहेगी हमारे पाठकों की कि आखिर कब होगी ऐसे अधिकारियों  पर कार्यवाही या ऐसे अधिकारियों पर पर ये फॉर्मूला ही यूज होता रहेगा कि पहले अपराधी अपराध कर ले  और फिर  उसके बाद अपराधी को सजा दी जाय।

आपदा का समय है और साहब सिनेमा हॉल में फिल्म देखने में मस्त हैं। जी हां संडे है, लेकिन बारिस को देखते हुये अलर्ट रहने के निर्देश हैं। परन्तु साहव को फिल्म में मजा आ रहा है। प्लीज कोई भी इनको डिस्टर्व न करे। प्रशासन भी नही।  सुना है कि यह साहव पीडब्लूडी प्रान्तीय खण्ड टिहरी में जे ई साहब हैं । किसी ने इनको समस्या बतानी चाही तो यह साहब क्या कह रहे हैं ,

आप भी सुने–

 

आपदा के समय पर यदि जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारियों का इस प्रकार का रवैया रहता है, तो उम्मीद किससे की जाय। या फिर आपदा न हो और कोई भी व्यक्ति इस तरह से फोन पर जबाब दे तो इससे उसकी सोच समझ का भी पता चलता है। दरअसल शनिवार को जाखणीधार  के कण्डोगी गांव में पीडब्लूडी की जेसीवी से पेयजल लाइन टूट गई थी। इसी गांव के रहने वाले पत्रकार धर्म सिंह राणा ने रविवार को इंजीनियर निर्मल नेगी से बात करनी चाही तो क्या कहा गया आप सुन सकते हो। निर्मल नेगी ने सीधे कहा कि संडे को उन्हे क्यों परेशान कर रहे हो और वह सिनेमा हाॅल में फिल्म देख रहे हैं। वह कहते है कि काॅल रिसीव उन्होने इसलिये की कि उन्होने सोचा आपदा आ गई। अब आप सोच सकते हो कि यदि आपदा आती तो क्या निर्मल फिल्मी हीरो की तरह उड़ के सीधे सिनेमा हाॅल से घटना स्थल पर पंहुच सकते थे। लेकिन फिल्म के मजे में उन्होने पूरी बात तक नही सुनी और फोन काट दिया।

बातया जा रहा है कि निर्मल नेगी का इस तरह का बर्ताव पहले भी सामने आ चुका है। उनके इस बर्ताव का प्रशासन और स्थानीय जनप्रतिनधियों का संज्ञान जरूर लेना चाहिये, वरना इस प्रकार के जे ई व्यवस्था को चैपट करने में कोई कसर नही छोड़ेंगे, साथ ही जनप्रतिनिधियों को तय करना पड़ेगा कि उनके इलाके इस तरह के लोगों के कारण उनकी छवि का बंठाधार न हो जाय।

एक तरफ तो टिहरी की जिलाधिकारी, सीडीओ और एसएसपी सहित अन्य अधिकारी आपदा की संवेदनशीलता को लेकर हर वक्त तत्पर हैं, वंही कुछ इस तरह के लोग भी हैं, जो किये कराये पर पानी फेरने में लगे हुये हैं। चम्बा-ऋषिकेश मार्ग पर हुये बस हादसे को लेकर दिखाई गई प्रशासनिक त्तपरता और और उस दिन खुद टिहरी डीएम सुबह 8:30 बजे बस दुर्घटना की खबर सुनते ही अपनी लड़की को स्कूल छोड़ने जा रही थी उस समय और आधे रास्ते से ही जिन कपड़ों में बच्ची को स्कूल छोड़ने गयी थी उन ही कपड़ों में निकल पड़ी घटना स्थल और जिलाधिकारी के साथ – साथ सभी अधिकारियों ने बखूबी निभाई है

एक तरफ जेई महोदय हैं,जिन्हे उनकी फिल्म के बीच में रिंग टोन बजना ही उनके मनोरंजन में खलल है। यह तो एक मामला है, इन साहब की वार्तालाप से अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह समस्याओं को लेकर कितने संजीदा हैं और किस तरह समस्याओं के निराकरण की जहमत उठाते होंगे।

 

 

www.emediatoday.com
देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। ई मीडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें emediatoday2018@gmail.comपर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9456387871 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज emediatodayभी फॉलो कर सकते हैं।

Spread the love