बच्चन सिंह कर रहे हैं समाजसेवा के साथ ही संस्कृति सेवा।

टिहरी : दूर प्रदेश में रहने के बाद भी अपनी मिट्टी से जुड़े हुए समाजसेवी बच्चन सिंह रावत इस कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत हुए लॉकडाउन में कभी जरूरतमंदों के लिए खाद्य सामग्री की किट भेजते हुए नज़र आये तो कभी विधवाओं और दिव्यांगों को राहत धनराशि देते हुए।
अपनी मिट्टी से बच्चन सिंह का इतना लगाव है कि हाल में ही उन्होंने उत्तराखंड की लोक गायिका बीना बोरा से पहाड़ की संस्कृति पर आधारित गीत बनवाया और लॉकडाउन के बीच लोक गायिका बीना बोरा ने अपना नया गीत “बेटूलि बिराणी” का विमोचन यूट्यूब के माध्यम से किया है। गीत दर्शकों को भी खूब भा रहा है।
इस गीत के माध्यम से एक बेटी के संघर्षों के बारे मेंबताया गया है कितना मुस्किल होता है एक लड़की के लिए इसी को ध्यान में रखते हुए, विदाई के बारे में बताया गया है।इस सुन्दर गीत में यूके म्यूजिक एंड फिल्म्स प्रोडक्शन द्वारा बहुत सुंदर संगीत देकर चार चाँद लगाने का काम भी इनकी पूरी टीम ने किया है।
एवं गीत के निर्माता निर्देशक दर्शनी रावत हैं जोकि सामाजिक कार्यकर्ता बच्चन रावत जी की धर्मपत्नी हैं इस कोरोना महामारी में श्रीमती दर्शनी रावत नें भी उत्तराखंड के लोगों को इस विपदा की घड़ी में जहां शासन प्रशासन नहीं पंहुच पाया वहाँ भी इन्होंने ऊनी समोंण स्वरुप खाद्य सामग्री भेजी है।
लोक गायिका बीना बोरा ने बताया कि बेटी की विदाई पर आधारित यह भावुक गीत लिखने के लिए समाजसेवी बच्चन सिंह रावत ने उन्हें प्रेरित किया था। तथा इस वीडियो गीत की शूटिंग उनकी की पुत्री के विवाह में की गई थी।

https://youtu.be/qjhk67EwZ28

इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता बच्चन रावत ने कोरोना वायरस संक्रमण के जल्द खत्म होने की कामना की। साथ ही सभी से सोशल डिस्टेन्स और लॉकडाउन का पालन करने की अपील की।

Spread the love