रेणी गाँव के लोगों ने कहा शाबास SDRF।

चमोली : दैवीय आपदा के तत्काल बाद राज्य एवं देश की अनेक एजेंसियां रेस्कयू कार्य मे जुटी हुई है, जहां एक और सर्चिंग कार्य जारी है।

वहीं दूसरी ओर टनल से मजदूरों को सुरक्षित निकालने का प्रयास भी युद्ध स्तर पर जारी है। रेस्कयू कार्यों के साथ ही  SDRF उत्तराखंड पुलिस  की सहायता एवम सर्चिंग हेतु लगातार रेणी गावँ में बनी हुई है जहां रेस्कयू कार्यो के साथ ही ग्रामीणों के सामान को मलवे से  सुरक्षित निकाला जा रहा है।

जोशीमठ के रेणी गाँव के वे घर जहां त्रासदी के बाद मलवा फंसा  हुआ था वहां पहुंच कर  SDRF उत्तराखंड पुलिस के  जवानों के द्वारा मलवा हटा कर सामान को सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया गया, खाद्यान्न को सुरक्षित किया, साथ ग्रामीणों से  उनकी समस्या  भी जानने की कोशिश की गयी। जहाँ SDRF जवानों के इस मानवीय कार्य की  ग्रामीणों द्वारा सराहना की जा रही है वहीं इन्हें उत्तराखंड के देवदूत के नाम  से भी पुकारा जा रहा है SDRF की टीमें आपदा के पश्चात से ही प्रभावितों के सामान को सुरक्षित  निकालने का कार्य भी के साथ ही अन्य मूलभूत सुविधाओं को सुचारू करने का प्रयास कर रही है।

Spread the love

You may have missed