तीन नेशनल हाईवे सहित 20 मार्ग रहे बंद भारी बारिश से जिले में जन-जीवन अस्त-व्यस्त

नई टिहरी। रविवार सांय से शुरू हुई भारी बर्षात के कारण जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। भारी बारिशके कारण ऋषिकेश-गंगोत्री और ऋषिकेश-बद्रीनाथ मार्ग जगह-जगह बंद रहा है। जिस कारण चारधाम यात्रियों और राहगिरों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बारिश से जिले के 17 अन्य मोटर मार्ग भी बंद रहे। रविवार सांय से जिले के विभिन्न भागों में जमकर बारिश शुरू हुई। सोमवार 12 बजे तक तेज बारिश का सिलसिला जारी रहा। भारी बारिश से ऋषिकेश-गंगोत्री राजमार्ग दुआधार, आगराखाल, फकोट, बेमुंडा, बेमर आदि स्थानों पर बंद रहा। सोमवार को लगभग एक बजे के मार्ग खुला जिसके बाद वाहनों की आवाजाही शुरू हुई। इसके अलावा ऋषिकेश-देवप्रयाग-बद्रीनाथ राजमार्ग भी बंद रहा। राजमार्ग संख्या-707ए चंबा-मसूरी भी सुवाखोली, कफलानी और धनोल्टी, कद्दूखाल के निकट सोमवार को कई घंटे बंद रहा। कड़ी मशक्कत के बाद मार्ग को लगभग पौने एक बजे खोला गया। वहीं जिला आपदा प्रबंधन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिला और लिंक मार्ग भी बंद रहे जिनमें लंबगांव-मोटणा-घनसाली, मरोड़ा-बनाली, गोना-कोट, सीताकोट-बनोली, रामपुर-श्यामपुर-दनसाडा, गुल्लर-नाई, सल्डोगी-कसमोली, नरेंद्रगनर-नीर, हिंडोलाखाल-उनाना, दुवाधार-भैसार्स, थत्यूड़-मराड़, कोटी-जाख, पिलखी-नैल-बौंसाल जगह-जगह मलबा आने से बंद रहे। भारी बारिश से घनसाली तहसील के देवताधार में जीतराम का आवासीय भवन टूटकर क्षतिग्रस्त हो गया। बालगंगा के गोना गांव में दिनेश लाल के आवासीय भवन को भूस्खलन से खतरा उत्पन्न हो गया है। मंदार गांव के आधा दर्जन से अधिक परिवारों के घरों में भूस्खलन से मलबा आ गया जिस कारण उन्हें गांव के अन्य माकानो में शरण लेनी पड़ी है।

Spread the love

You may have missed