जानकी सेतु केवल दोनों किनारों को जोड़ने वाला नही अपितु भावनाओं को भी जोड़ने वाला है। जानकी सेतु पर्यटकों एवं श्ऱद्धालुओं के लिए सुविधा के सा

प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनपद टिहरी गढ़वाल के नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती क्षेत्र के कैलाशगेट के समीप गंगा नदी पर 48 करोड़ 85 लाख 60 हजार रूपये (4885.60 लाख) की लागत से बने कुल 346 मीटर लम्बे पैदल झूला पुल का लोकार्पण किया। श्री रावत द्वारा पैदल झूला पुल जिसका नाम जानकी सेतु है का लोकार्पण सिल का अनावरण कर व रिबन काटकर किया गया। मुख्यमंत्री श्री रावत द्वारा पुल पर चलकर स्थलीय निरीक्षण किया गया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि जानकी सेतु केवल दोनों किनारों को जोड़ने वाला नही अपितु भावनाओं को भी जोड़ने वाला है। जानकी सेतु पर्यटकों एवं श्ऱद्धालुओं के लिए सुविधा के साथ आकर्षण का केन्द्र भी होगा। इस पुल (सेतु) के निर्माण से क्षेत्रवासियों को भी लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि हमने साढ़े तीन सालों में (वर्षो में) 250 से अधिक पुल बनाने का रिकार्ड स्थापित किया है। यह तभी सम्भव हो पाया है क्योंकि हमने परम्परा से हटकर काम किया है।  हमारे द्वारा निर्माण कार्यो के लिए धनराशि छोटी-छोटी किस्तों में न देकर एकमुश्त धनराशि निर्माण कार्यो के लिए आंवटित की गयी जिससे निर्माण बिना रूके पूर्ण हुए हैं। श्री रावत ने कहा कि हम प्रदेश के विकास के साथ प्रदेश से भ्रष्टाचार को भी मिटाने का कार्य कर रहे हैं। क्योंकि भ्रष्टाचार खत्म होने पर ही प्रदेश का विकास सम्भव है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने प्रदेश वासियों से कहा कि यदि हमें प्रदेश में समृद्वि लानी है तो स्वरोजगार को अपनाना होगा। जब हम स्वरोजगार अपनायेगें तभी प्रदेश से बेरोजगारी मिटा पायेगें। श्री रावत सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न स्वरोजगार परक योजनाओं के बारें में भी स्थानीय जनता को जानकारी दी गयी। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के संतुलित विकास के लिए सभी के सहयोग की बात कहते हुए महिलाओं के योगदान को प्रदेश के विकास के लिए महत्वपूर्ण बताया तथा महिलाओं के लिए राज्य सरकार द्वारा चलायाी जा रही स्वरोजगार परक योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने गांवो के विकास के लिए रूरल ग्रोथ सेन्टर स्थापना की जानकारी दी। वहीं महिलाओं को पति की सम्पत्ति में सहभागी बनाये जाने की योजना के बारें में बताया। इस अवसर मुख्यमंत्री श्री रावत ने जाजल-शिवपुरी मोटर मार्ग का अवशेष निर्माण कार्य, मुनिकीरेती में विभिन्न सड़कों का 5 किमी का पुनः निर्माण कार्य, नरेन्द्रनगर विधानसभा के मुन्नाखाल-बौंठ मोटरमार्ग, यमकेश्वर विधानसभा क्षेत्र के बाडयू-काण्डायी मोटरमार्ग, लक्ष्मण झूला से नीलकंठ तक नीलकंठ मोटर मार्ग, कौडियाला के समीप सिगंटाली पुल, चीला रोड़ पर बीन नदी पर पुल निर्माण एवं लक्ष्मण झूला के समीप बजरंग पुल निर्माण की घोषणा की गयी। इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष पे्रमचन्द अग्रवाल ने कहा कि सरकार राज्य के सभी क्षेत्रों के विकास पर ध्यान दे रही है। इस अवसर पर प्रदेश के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि जानकी सेतु संकल्पना वर्ष 2006 में की गयी थी। कई उतार-चढाव के बाद यह पुल आज बनकर तैयार हुआ है। जो स्थानीय लोगों को स्वरोजगार देने के लिए संजीवनी साबित होगा।
इस अवसर पर विधायक यमकेश्वर ऋतु खण्डूरी, ऋषिकेश नगर निगम मेयर अनिता ममगाइर्, नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती के अध्यक्ष रोशन रतूड़ी, सचिव लोनिवि सुधांशु, जिलाधिकारी ईवा आशीष श्रीवास्तव, एसएसपी डाॅ0 योगेन्द्र सिंह रावत, एसडीएम नरेन्द्रनगर आकांक्षा वर्मा, विनोद रतूड़ी आदि उपस्थित थे।

Spread the love

You may have missed