उपजिलाधिकारी नोटिफाइड सेन्टरों का निरीक्षण कर व्यवस्थायें सुनिश्चित करें- जिलाधिकारी

हल्द्वानी : जिलाधिकारी सविन बंसल ने कहा है कि जनपद में कोरोना पाॅजेटिव केसों की संख्या मे लगातार इजाफा हो रहा है आने वाले समय मे ऐसे लोगों की संख्या मे वृद्वि से इंकार नही किया जा सकता। कोरोना पाॅजेटिव केसों को अब सुशीला तिवारी चिकित्सालय मे ना रख कर जिले भर मे चिन्हित कोविड केयर सेंटरों मे रखा जायेगा। जिलाधिकारी ने शनिवार की देरसांय सर्किट हाउस मे अधिकारियों के साथ कोविड केयर सेन्टरों के सम्बन्ध मे समीक्षा कर रहे थे। उन्होने अधिकारियों से कहा कि सुशीला तिवारी चिकित्सालय मे केवल गम्भीर कोरोना मरीजों को ही भर्ती कर इलाज किया जायेगा।

जिलाधिकारी बंसल ने अधिकारियों से कहा कि कोविड केयर सेन्टरों की व्यवस्था एवं संचालन आईआरटी द्वारा की जायेगी। इन सेन्टरों के नोडल अधिकारी मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार होंगे। उन्होने बताया कि हल्द्वानी महानगर वानिकी प्रशिक्षण संस्थान, सम्भागीय प्रशिक्षण संस्थान मोतीनगर, होटल देवाशीष, सौरभ कैंन्डी होटल, मल्लिका होटल, राॅयल विंडसर होटल काठगोदाम में कोविड केयर सेन्टर नोटिफाइड किये गये हैं जबकि रामनगर में होटल समसारा, पर्यटक आवास गृह, नैनीताल में होटल रियो ग्रान्ड, होटल स्टारलिंग, भीमताल में प्रिंस रेजीडेंसी तथा धारी मे पर्यटक आवास गृह पदमपुरी कोविड केयर सेन्टर नोटिफाइड किये गये।
जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक कोविड केयर सेन्टर पर 24 घंटे मेडिकल टीम के साथ आक्सीजन युक्त एम्बुलैंस, सुरक्षा व्यवस्था एवं भोजन व्यवस्था रहेगी। उन्होने बैठक मे उपस्थित सभी उपजिलाधिकारियो को निर्देश दिये कि वह नोटिफाइड सेन्टरों का निरीक्षण कर व्यवस्थायें सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने नगर मजिस्टेट तथा सम्बन्धित उपजिलाधिकारियो से कहा है कि कोविड केयर सेन्टर मे ऐसे मरीजो को रखा जायेगा जिन मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पाॅजेटिव आई हो। परन्तु उक्त व्यक्तियों में कोरोना से सम्बन्धित कोई लक्षण प्रकाश मे नही आये हैं अथवा हल्के लक्षण प्रकाश मे आये हैं, आ रहे है, सम्बन्धित आईआरटी द्वारा कोविड केयर सेन्टर मे रखे गये व्यक्तियों की सुरक्षा एवं मूलभूत सुरक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। इन सेन्टर मे रखे गये व्यक्तियों का नजदीकी प्रभारी चिकित्साधिकारी के माध्यम से नियमित रूप से परीक्षण कराया जायेगा। सेन्टरोें मे रखे गये व्यक्तियों मे से किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस से सम्बन्धित किसी भी प्रकार के मध्यम एवं गम्भीर लक्षण परिलक्षित होने अथवा आक्सीजन सेचुरेशन 95 प्रतिशत से नीचे होने की स्थिति में आईआरटी टीम द्वारा तत्काल उपरोक्त मरीज को उपचार हेतु डाक्टर सुशीला तिवारी चिकित्सालय हल्द्वानी में स्थानान्तरित किया जायेगा। उन्होेेने कहा कि अन्य मरीज जिन्हें सेन्टर मे रखा गया हो का 10 दिन तक नियमित रूप से स्वास्थ्य परीक्षण सुनिश्चित किया जायेगा। यदि व्यक्तियों के अन्तिम तीन दिन में कोई लक्षण बुखार सहित परिलक्षित ना हो तो ऐसे व्यक्तियों को डिस्चार्ज पाॅलिसी कोविड 19 के दिशा निर्देशों के अनुरूप 10 दिन पूर्ण होने के उपरान्त सेन्टर से अवमुक्त करते हुये अग्रिम सात दिनों के लिए होम कोरेन्टाइन किया जायेगा। ऐसे व्यक्तियों को अवमुक्त किये जाने हेतु कोई परीक्षण की आवश्यकता नही होगी। सेन्टर मे किसी मरीज को अवमुक्त किये जाने के उपरान्त अवमुक्त किये गये व्यक्तियों के सम्बन्ध में डिस्चार्ज पाॅलिसी कोविड 19 में दिये गये निर्देशो का पूर्णतयाः पालन सुनिश्चित किया जायेगा।
बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, प्रबन्ध निदेशक केएमवीएम रोहित मीणा, अपर जिलाधिकारी कैलाश टोलिया, नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया,मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भारती राणा, एसीएमओ डा0 रश्मि पंत, डा0 तरूण कुमार टम्टा, सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह, उपजिलाधिकारी विनोद कुमार, अनुराग आर्य, गौरव चटवाल, ऋचा सिह, विवेक राय, विजयनाथ शुक्ल, सीओ विजय थापा, शान्तनु पराशर आदि मौजूद थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *