सीएम त्रिवेन्द्र और विधायक गणेश जोशी ने मसूरी विधानसभा क्षेत्र में 31 करोड़ के विकास कार्यो का लोकार्पण व शिलान्यास किया।

देहरादून : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मसूरी विधानसभा क्षेत्र के निवासियों को करोड़ों के विकास कार्यो की सौगात दी। सर्वप्रथम मुख्यमंत्री रावत ने बीरपुर पुल पहुंचे और पुल का उद्घाटन कर इसे आवाजाही के लिए खोला। क्षेत्रीय विधायक गणेश जोशी ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को पुष्पगुच्छ देकर उनका स्वागत किया और विकास पर सौगात पर उनका आभार जताया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री का अजगर माला से स्वागत किया। छावनी परिषद की उपाध्यक्ष राजेन्द्र कौर सौंधी, सभासद मधु खत्री एवं निर्मला थापा ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

विधायक जोशी ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का धन्यवाद करते हुए कहा कि उनके आर्शीवाद से मसूरी विधानसभा क्षेत्र में विकास ही विकास है। प्रेमनगर से बुरासखण्डा तथा सचिवालय से मसूरी तक कोई स्थान ऐसा नहीं है, जहां पर विकास कार्य न किये गये हों। उन्होंने कहा कि चुनाव के समय गढ़ी कैंट की जनता द्वारा कहा जाता था कि हमें सिर्फ पानी चाहिए और मुख्यमंत्री रावत की स्वीकृति के बाद गढ़ी कैंट में नलकूप निर्माण हो चुका है और ओवरहैड टैंक का निर्माण होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि मसूरी में गाड़ीखाना का सौन्दर्यीकरण सहित मुस्लिम कब्रिस्तान की चाहरदीवारी का कार्य भी किया जा रहा है। राजेन्द्र नगर एवं मिठ्ठी बेहड़ी की पेयजल समस्या भी हल होने जा रही है तथा 17 करोड़ की लागत से कई सड़कों का डामरीकरण किया जा रहा है। उन्होनें मसूरी क्षेत्र के लिए सात घोषणाऐं किये जाने पर भी मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का आभार जताया।

 

इनका हुआ लोकार्पण : 02 करोड़ 37 लाख की लागत से निर्मित गढ़ी कैंट के बीरपुर में 32 मीटर स्पान का पुल।

इनका हुआ शिलान्यास : 413.43 लाख की लागत से गढी कैंट में ओवरहैड टैंक, राइजिंग मैन एवं सप्लाई लाईन योजना, 416 लाख से मसूरी के गाड़ीखाना में टै्रचिंग ग्राउंड का सौन्दर्यीकरण कार्य, 144.42 लाख से वार्ड 12 किशन नगर के सिरमौर मार्ग स्थित लोकायुक्त गली में नलकूप निर्माण, 92.03 लाख की लागत से न्यू मिठ्ठी बेहड़ी में नलकूप निर्माण, 107.05 लाख से मसूरी में मुस्लिम कब्रिस्तान की चाहरदीवारी निर्माण, 19.36 लाख से गढ़ी कैंट के हवाघर डाकरा लिंक मार्ग पर स्थित कैण्टोमेंट पार्क का सौन्दर्यीकरण कार्य, 500 लाख से देहरादून किमाड़ी कम्पनीगार्डन मोटर मार्ग में सतह सुधार एवं सड़क सुरक्षा कार्य, 454 लाख से राजपुर से कुठालगेट, हाथीबड़कला से मालसी, पुरुकुल से मालसी, झड़ीपानी से बार्लोगंज मोटर मार्ग में सतह सुधार एवं सड़क सुरक्षा कार्य, 471 लाख से दिलाराम चौक से कुठालगेट तक सतह सुधार कार्य, 86.91 लाख से गढ़ी कैंट से नींबूवाला, आईएचएम तथा धोरण आईटी पार्क मोटर मार्ग में सतह सुधार का कार्य।

ये हुए घोषणाऐं : गढ़ी कैंट क्षेत्र में सामुदायिक भवन का निर्माण किया, कुठालगांव पेयजल योजना का सुदृढ़ीकरण, अनारवाला पेयजल योजना का सुदृढ़ीकरण, सेरकी-सिल्ला मोटर मार्ग (13 किमी) का सुधारीकरण, चमासारी से लुहारीगढ़ मोटर मार्ग (06 किमी) निर्माण, कालीदास रोड़ पुर्नगठन सीवर योजना तथा ग्राम पंचायत भितरली में 1.50 किमी सिंचाई गूल का निर्माण।

गढ़ी कैंट स्थित शहीद दुर्गामल्ल योगा पार्क में आयोजित लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि हमारी सरकार विकास के लिये समर्पित है। राज्य के समग्र विकास के साथ ही भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन का हमारा प्रयास है। उन्होंने कहा कि विकास योजनाये में हमारी जरूरत है। सडकां के विकास के प्रति भी हमारा विशेष ध्यान है। सडकें विकास का मानक तय करती है। आज विकास योजनायें निर्धारित समय से पूर्व तैयार हो रही है जिनमें कराड़ों की बचत भी राज्य सरकार को हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़कों के विकास में राज्य सरकार के प्रयासों को राष्ट्रीय स्तर पर सराहा गया है। इसके लिये राज्य को 17 अवार्ड प्राप्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि योजनायें समय पर पूर्ण हो इसके लिये शिलान्यास करते समय ही उनके लोकार्पण का भी समय निर्धारित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने मसूरी विधायक गणेश जोशी को जन समस्यों के प्रति जागरूक बताते हुए कहा कि पिछले चार साल में मसूरी क्षेत्र में 500 करोड़ की योजनायें स्वीकृत हुई हैं।

इस अवसर पर छावनी परिषद की सीईओ तनु जैन, महानगर अध्यक्ष सीताराम भट्ट, नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता, राज्यमंत्री टीडी भूटिया, पूर्व उपाध्यक्ष विष्णु गुप्ता, जिला पंचायत उपाध्यक्ष दीपक पुण्डीर, वीर सिंह, मण्डल अध्यक्ष राजीव गुरुंग, पूनम नौटियाल, महामंत्री सुरेन्द्र राणा, राहुल रावत, बेला गुप्ता, देवेन्द्र पाल सिंह सहित जलनिगम, जलसंस्थान, एमडीडीए, लघु सिंचाई, लोक निर्माण विभाग के अधिकारीगण तथा क्षेत्रीय जनता उपस्थित रही।

Spread the love

You may have missed