मरीज से एक घण्टे के 22 हजार का बिल,पर मरीज की मौत।

 

देहरादून- राजधानी देहरादून के निजी अस्पताल में मरीज की मौत का मामला सामने आया है जहाँ अस्पताल प्रशासन ने मृतक मरीज का एक घंटे में 23 हज़ार का बिल बना दिया लेकिन ताज्जुब वाली बात रही कि एक घंटे में हजारों का बिल बनाने के बाद भी मरीज की जान नही बाख पाई वही मृतक के परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर संगीन आरोप लगाते हुए अस्पताल के बाहर जमकर बवाल काटा ।।

मामला राजधानी के देहरादून के निजी अस्पताल का है जहाँ मृतक के परिजनों ने जानकारी देते हुए बताया कि डम्पर और बाइक की टक्कर विकासनगर के पास हो गई थी जिसमे 2 युवक घायल हुए थे जिन्हें विकासनगर के अस्पताल से हायर सेंटर के लिए रेफर किया गया उन्होंने कहा कि amublance चालक उन्हें बल्लीवाला के निजी अस्पताल में ले गया और ज्वाला अस्पताल में भर्ती करा दिया गया वही अस्पताल में तमाम इंतजाम न होने के बावजुद भी हायर सेंटर न रेफेर करते हुए सब ठीक होने की बात कहकर वही पर भर्ती कर लिया परिजनों ने संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि महज एक घंटे में ही अस्पताल ने हजारों का बिल बना डाला बावजुद इसके मरीज की जान नही बच पाई और जब मृतक के परिजन शव को घर ले जाने लगे तब अस्पताल ने बिना बिल दिए डेड बॉडी ले जाने से मना कर दिया वही मामला डिस्ट्रिक्ट लीगल सर्विस अथॉरिटी की जज नेहा कुशवा के संज्ञान में आते ही टीम dsla की टीम तत्काल अस्पताल पहुचीराजधानी में यह कोई नया मामला नही है जहाँ प्राइवेट अस्पतालों की लूटखोरी सामने आ रही है और एम्बुलेंस चालको की मिलीभगत से कई मरीजो को अपनी जान गवानी पड़ती है

Spread the love