जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण ने कैंप्टीफॉल जाकर नुकसान का जायजा लिया।

नई टिहरी। जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण ने कैंप्टीफॉल झील का भ्रमण कर नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह के भीतर कैंप्टी झील की सफाई कर दी जाएगी। झील तक जाने वाले रास्ते को जिला पंचायत की ओर से साफ कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कैंप्टी सुरक्षित है और देश-विदेश के पर्यटक निसंकोच यहां का भ्रमण कर सकते हैं। कहा कि जिला पंचायत की टीम ने कैंप्टीफॉल में कैंप किया हुआ है।
बुधवार को प्रातः ही जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण और अपर मुख्य अधिकारी दुर्गा सिंह चौहान ने कैंप्टीफॉल जाकर नुकसान का जायजा लिया।

उन्होंने बताया कि झरने से बहुत ज्यादा मात्रा में बह रहा पानी अब कम हो गया है। तीन दुकानों में झरने में आई बाढ़ के कारण मलबा घुस गया था जिनको ठीक किया जा रहा है। वहीं कैंप्टी झील में भी तीन मीटर तक मलबा घुसने से वहां पर जलक्रीड़ा करने में दिक्कतें आ रही हैं। झील से एक सप्ताह के भीतर मलबे को हटा लिया जाएगा। अध्यक्ष सजवाण ने बताया कि कुछ लोगों ने अनर्गल बयानबाजी कर कैंप्टी में पर्यटकों की आवाजाही पर रोक लगाने की बात कही थी। कहा कि कैंप्टी पूरी तरह से सुरक्षित है। झील तक जाने वाले रास्ते और सीढ़ियों को ठीक कर लिया गया है। जिला पंचायत की निर्माण टीम ने पिछले दो दिनों से कैंप्टी में ही कैंप कर रखा है। उन्होंने बताया कि कैंप्टीफाल जिले का प्रमुख पर्यटक स्थल है जहां पर देश और दुनिया के हजारों पर्यटक सैर करते हैं। भारी बारिश के कारण झील में मलबा भर गया था। कहा कि अन्य परिसंपत्तियों को कोई नुकसान नही पहुंचा है। लगातार कैंप्टी में सफाई अभियान चलाया जा रहा है। कहा कि यदि किसी की इस संबंध में कोई परेशानी और सुझाव हो तो वह विभागीय अधिकारियों को अवगत करा सकता है। उन्होंने सभी से सहयोग की भी अपील की है। इस मौके पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्याम सिंह पंवार, सहायक अभियंता सतीश त्रिपाठी, व्यापार मंडल अध्यक्ष सुंदर सिंह रावत, रणवीर सिंह आदि मौजूद थे।
फोटो-5एनटीएच4
टिहरी के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल कैंप्टीफॉल में नुकसान का जायजा लेती जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण।

Spread the love