चमोली में दो जगह फटा बादल, कई मकान मलबे में दबे

 

देर रात से हो रही बारिश के कारण चमोली जिले के दो क्षेत्र कुंडी गांव और धारडंबगड में बादल फट गया। इसकी वजह से कई घर, दुकान, मवेशी और गाड़ियां मलबे में दब गई हैं। हालांकि अबतक जनहानि की कोई सूचना नहीं है। मौके में प्रशासन टीम मानवीय सहायता पहुंचा रही है।

बताया जा रहा है कि बादल फटने के करीब एक घंटे बाद आपातकालीन परिचालन केंद्र में स्थिति की समीक्षा करने के बाद थराली आइआरएस टीम को तुरंत राहत बचाव के लिए रवाना होने के निर्देश दिये गए। लेकिन बताया जा रहा है कि राहत-बचाव के लिए टीम मौके पर करीब साढे सात बचे पहुंची थी। प्रशासन ने बताया कि मार्ग अवरुध होने की वजह से मौके पर पहुंचने में देरी हुई है।

बताते चलें कि उत्तराखंड में मौसम के तेवर अगले एक-दो दिन तल्ख रहने वाले हैं। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में राज्य के सात जिलों में भारी और बहुत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। पिछले दिनों हुई तबाही की वजह से प्रदेश के कई मोटर मार्ग बंद हैं।

थराली विधानसभा के कुंडी गांव घाट ब्लॉक में बादल फटने के बाद मौके पर चमोली एसडीएम परमानंद, चमोली थाना प्रभारी दीपक रावत, तहसीलदार सोहन सिंह के अलावा एसडीआरएफ पहुंची है। एसडीआरएफ की 6 सदस्यीय दल राहत-बचाव कार्य में जुटी है। यहां 6 गौशाला, 6 से 7 मकान, 12 से ज्यादा मवेशी मलबे के चपेट में आ गये हैं।

वहीं थराली ब्लॉक के धारडंबगड में बादल फटने के बाद आपदा प्रबंधन विभाग का एक दल रेस्क्यू के लिए पहुंचा है। यहां 6 गाड़ियों और तीन मोटर साइकिल बहने की जानकारी है। इसके अलावा 2 से 3 मकान और 10 दुकानें मलबे की चपेट में आ गई हैं।

Spread the love