मकान टूटने से एक अबोध बालिका की मौत हो गई।जबकि बच्ची की मां इस हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गई।

नारायणबगड़।
चलियापानी गांव में बुधवार सुबह मकान के धराशायी होने से मलबे में दबकर एक अबोध बालिका की मौत हो गई।जबकि बच्ची की मां इस हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गई। जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है।
बुधवार सुबह क्षेत्र के चलियापानी गांव में दर्शनसिंह का पुराना दोमंजिला मकान भरभराकर धराशायी हो गया। हादसे के वक्त उनकी पुत्रवधू वर्षा देवी(30वर्ष) सुबह का नाश्ता तैयार कर रही थी, और नातिन मिष्ठी (3वर्ष)ने उसी समय बाहर से घर में प्रवेश किया था कि मकान टूट कर उनके उपर गिर पड़ा।इससे वहां कुहराम मच गया।ग्रामीणों ने जैसे-तैसे मलबे में दबी वर्षा देवी को बाहर निकाला और बच्ची मिष्ठी को निकालने के प्रयासों में जुट गए।
लेकिन तब तक वह दमतोड़ चुकी थी।घायल वर्षा देवी को तत्काल ही उपचार के लिए पीएचसी नारायणबगड़ लाया गया।जहां प्राथमिक चिकित्सा के बाद उन्हें हायर सेंटर रेफर कर दिया गया।
सूचना पर नायब तहसीलदार सुरेंद्र सिंह देव,राजस्व उपनिरीक्षक राजेश्वरी रावत, पुलिस चौकी प्रभारी विनोद चौरसिया, कांस्टेबल उमेश डोभाल, संतोष मौके पर पहुंचे।
बालिका के शव का पंचनामा भरकर गमगीन माहौल में उसकी अंतेष्टि कर दी गई। इस दर्दनाक हादसे से गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है।
Spread the love

You may have missed