10 साल की मासूम हुई गर्भवती, पड़ोसी लड़के पर आरोप

हाराष्ट्र से एक अजीब-ओ-गरीब खबर सामने आई है, जहां एक 10 साल की लड़की गर्भवती हो गई है. मामला महाराष्ट्र के पालघर जिले का है, जहां लड़की के माता-पिता ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है.

महाराष्ट्र से एक अजीब-ओ-गरीब खबर सामने आई है, जहां एक 10 साल की लड़की गर्भवती हो गई है. मामला महाराष्ट्र के पालघर जिले का है, जहां लड़की के माता-पिता ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. पुलिस के मुताबिक दोनों नाबालिग पड़ोस में रहते हैं. कुछ दिनों पहले पीड़िता ने पेट में दर्द होने की शिकायत माता- पिता से की थी. जिसके बाद उसे डॉक्टर के पास ले जाया गया.

जांच में लड़की के गर्भवती होने की बात सामने आने का बाद जब परिजनों ने लड़की से पूछताछ की तो पीड़िता ने बताया कि पड़ोस में रहने वाला एक लड़का पिछले चार महीनों से उसके साथ बलात्कार कर रहा था. फिलहाल, आरोपी के खिलाफ IPC की धारा 376 और प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. लेकिन आरोपी को अब तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है.

क्या है पॉक्सो

प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस एक्ट (पॉक्सो) इस कानून को 2012 में लाया गया. इसके तहत नाबालिग बच्चों के साथ होने वाले यौन अपराध और छेड़छाड़ के मामले में कार्रवाई की जाती है. ऐसे में हर अपराध के लिए अलग अलग सजा है. साथ ही इसके मामलों की सुनवाई अलग कोर्ट में बच्चे के माता-पिता के सामने या जिस पर वो भरोसा करता है, उसके सामने होती है. यह अधिनियम पूरे देश में लागू है. खासकर पुलिस को पीड़ित को 24 घंटे के भीतर बाल निगरानी समिति के सामने लाना होता है ताकि पीड़ित की सुरक्षा और मेडिकल जांच कराई जा सके. इन मामलों की सुनवाई बंद कमरों के अंदर होती है. साथ ही उसके और उसके परिजनों की पहचान गुप्त रखी जाती है.

Spread the love