समूह ‘ग’ भर्ती में पहली बार हुआ ये बदलाव, चयन आयोग कार्यालय के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं

समूह ‘ग’ पदों की भर्ती में अब अभ्यर्थी आसानी से मेरिट सूची के आधार पर अपना प्रतीक्षा क्रम देख सकेेंगे। इसके लिए उन्हें चयन आयोग कार्यालय के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं रहेगी। भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने पहली बार मेरिट प्रतीक्षा क्रम को ऑनलाइन करने का फैसला लिया है। इस सूची को देख कर अभ्यर्थी अंकों के आधार पर अपनी परफॉरमेंस का आकलन भी कर सकेंगे।

 
समूह ‘ग’ भर्ती में अर्भी तक मेरिट की प्रतीक्षा सूची का ब्योरा ऑनलाइन नहीं था। जिसकी वजह से अभ्यर्थियों को प्रतीक्षा क्रम की जानकारी के लिए चयन आयोग कार्यालय में संपर्क करना पड़ता था। वहीं अभ्यर्थियों को प्रतीक्षा सूची से चयन करने पर संशय बना रहता था।
मेरिट के आधार पर चयनित अभ्यर्थियों के अंकों को देख सकेंगे
इसे देखते हुए अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की ओर से समूह ‘ग’ पदों की भर्ती की मेरिट प्रतीक्षा सूची ऑनलाइन करने की पहल की गई। इससे भर्ती परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को यह पता लग सकेगा कि प्रतीक्षा सूची में उनका कोई सा स्थान है। वहीं, मेरिट के आधार पर चयनित अभ्यर्थियों के अंकों को देख सकेंगे। 

भर्ती परीक्षा के मेरिट क्रम को भी चयन आयोग ऑनलाइन कर रहा है। इससे अभ्यर्थियों को भर्ती की प्रतीक्षा सूची में अपने स्थान के बारे में जानकारी मिल सकेगी। भर्ती में पारदर्शिता व अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए आयोग ने यह पहल की है। ट्रायल के तौर पर एलटी शिक्षक भर्ती की मेरिट सूची को आयोग की वेबसाइट पर डाला गया है। इससे अभ्यर्थी मेरिट क्रम देखने के साथ ही अपनी परफॉरमेंस का आकलन कर सकते हैं। आगामी सभी भर्ती परीक्षाओं की मेरिट प्रतीक्षा सूची ऑनलाइन की जाएगी।
– संतोष बडोनी, सचिव, चयन आयोग
फेल अभ्यर्थियों की दोबारा होगी शार्ट हैंड परीक्षा
समूह ‘ग’ श्रेणी के वैयक्तिक सहायक और आशुलिपिक पदों की आशुलेखन परीक्षा के पुनर्मूल्यांकन में फेल अभ्यर्थियों की दोबारा से शार्ट हैंड परीक्षा ली जाएगी। हाईकोर्ट के आदेश पर अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने 29 जनवरी को शार्ट हैंड (आशुलेखन) परीक्षा की तिथि निर्धारित की है। इसमें 24 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे।
 
चयन आयोग सचिव संतोष बडोनी ने बताया कि विभिन्न विभागों में वैयक्तिक सहायक और आशुलिपिक के 106 पदों की लिखित परीक्षा छह नवंबर 2016 आयोजित की गई थी। लिखित परीक्षा में चयनित अभ्यर्थियों की 26 मार्च 2017 को टंकण (टाइपिंग) परीक्षा और 15 व 16 जून को आशुलेखन (शार्ट हैंड) परीक्षा ली गई। 376 अभ्यर्थियों ने आशुलेखन परीक्षा दी थी।
अभ्यर्थियों ने मूल्यांकन में त्रुटियों की शिकायत की
आयोग की ओर से आशुलेखन मूल्यांकन की शीट्स वेबसाइट पर जारी करने के बाद कुछ अभ्यर्थियों ने मूल्यांकन में त्रुटियों की शिकायत की। इस पर आयोग ने सभी अभ्यर्थियों के आशुलेखन परीक्षा का पुनर्मूल्यांकन किया। इसमें 24 अभ्यर्थी फेल पाए गए।
 
पुनर्मूल्यांकन में फेल अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की। 27 नवंबर 2018 को हाईकोर्ट ने इन अभ्यर्थियों की फिर से आशुलेखन (शार्ट हैंड) परीक्षा लेने का आदेश दिया था। इस क्रम में आयोग 29 जनवरी को आशुलेखन परीक्षा आयोजित कर रहा है। जिसमें 24 अभ्यर्थी भाग लेंगे। आयोग की ओर से जल्द ही प्रवेश पत्र जारी किए जाएंगे।

Spread the love