मंत्रियों के प्रोटोकोल भी सरकार ने हटा दिए हैं

निकाय चुनाव के चलते बीजेपी और कांग्रेस के साथ निर्दलीय भी लगातार मैदान में अपनी जीत के दावे कर रहे हैं तो वहीं पूरे चुनाव में बीजेपी ने इस बार सरकार को भी मैदान में उतार दिया है यानी कि सीधे तौर पर सरकार और संगठन चुनावी समर में कूद पड़े हैं प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के मुताबिक संगठन और मंत्रियों के साथ सरकार का भी आदमी इस चुनाव में साथ रहेगा जो कि जरूरत पड़ने पर चुनाव सम्बन्धी जानकारी और तालमेल बिठायेगा

  1. प्रदेश में इस समय चुनावी आचार संहिता लगी है ऐसे में मंत्रियों के प्रोटोकोल भी सरकार ने हटा दिए हैं लिहाजा अब सरकार ने दूसरी तरकीब भी निकाल दी है इस चुनाव में मंत्रियों के साथ सरकार के आदमी भी कार्यकर्ता के तौर पर रहेंगे जो कि संगठन और चुनावी प्रक्रिया में तालमेल बनाने का काम करेंगे कहीं पर कोई भी व्यवस्था करनी है या फिर बैठक करनी हो इसीलिए सरकार और संगठन से एक एक आदमी को इस बार चुनावी मैदान में बीजेपी ने उतारा है चुनाव में उनकी भूमिका यह रहेगी कि वह किसी को चुनावी जानकारी या फिर किसी प्रकार की गलत जानकारी सहित पोलिंग स्टेशन सहित सूचियों संबंधी जानकारी यह लोग देंगे जनता को देंगे
Spread the love