डीएम ने बीजेपी विधायक के भाई की गैस एजेंसी में मारा छापा, हकीकत जानकर उड़ गए होश, देखिए..

जिलाधिकारी दीपक रावत ने हरिद्वार में सिंहद्वार पर स्थित देवबंद के विधायक कुंवर ब्रिजेश सिंह रावत के भाई भाजपा नेता नवनीत राणा उर्फ मिंटू की गैस एजेंसी के गोदाम पर छापा मारकर कई अनियमितता पकड़ी। जिसमें निर्धारित वजन से कम गैस मिलने, होम डिलीवरी न करने, गोदाम से सिलेंडर देने पर 20 रुपये कम न करने आदि कमियां पाते हुए रजिस्टर जब्त कर लिया। उन्होंने एजेंसी संचालक पर कार्रवाई करने के निर्देश जिला आपूर्ति अधिकारी को दिए।

बृहस्पतिवार को जिलाधिकारी दीपक रावत ने सिंहद्वार के नजदीक में दयानंद स्टेडियम स्थित सिद्धी विनायक गैस एजेंसी के गोदाम पर छापा मारा। जिलाधिकारी ने सीधे गोदाम से सिलेंडर ले जाने वाले स्टॉक रजिस्टर को चेक किया। रजिस्टर में बृहस्पतिवार की तिथि में दर्ज गैस सिलेंडर की डिलीवरी तथा प्राप्ति में अंतर पाया गया।

डीएम ने फर्जी उपभोक्ता दर्ज किए जाने का संदेह होने पर संबंधित रजिस्टर को जब्त करते हुए जांच के लिए डीएसओ राहुल शर्मा को निर्देश दिए। उन्होंने रजिस्टर में ग्राहक हस्ताक्षर का भी मिलान किए जाने को निर्देश दिए। डीएम ने गोदाम में रखे 13 घरेलू तथा 9 कॉमर्शियल सिलेंडरों की सील टूटी पायी। इसके अलावा 5 कॉमर्शियल तथा 3 घरेलू सिलेंडरों के वजन कराए तो उनमें 200 ग्राम से लेकर एक किलोग्राम तक गैस कम मिली। 

डीएम ने कम वजन के सिलेंडर पाए जाने पर संचालक का चालान किए जाने के निर्देश डीएसओ को दिए। गैस एजेंसी द्वारा स्वयं गैस ले जा रहे उपभोक्ताओं से होम डिलीवरी चार्ज वसूले जाने पर गोदाम प्रबंधक को फटकार लगायी। साथ ही स्वयं सिलेंडर ले जाने पर होम डिलवरी चार्ज न लिए जाने के सख्त निर्देश देते हुए चार्ज स्वरूप ली गई धनराशि वापस किए जाने के सख्त निर्देश दिए। जीर्ण अवस्था में पाए गए सिलेंडरों को तुरंत निस्तारित किए जाने के निर्देश भी गैस एजेंसी संचालक को दिए। इस दौरान अन्य गैस एजेंसी संचालकों में हड़कंप मचा रहा।

गैस गोदामों से कई लोग सीधे ही गैस से भरे सिलेंडर लेने को मजबूर रहते हैं। लेकिन गोदाम से सीधे लेने पर भी उन्हें डिलीवरी के बदले में 20 रुपये कम नहीं किए जाते। इसकी असलियत जिलाधिकारी के निरीक्षण में सामने आयी। 

जिलाधिकारी दीपक रावत ने देखा कि जो भी उपभोक्ता सीधे गैस सिलेंडर ले रहा था तो उसकी रसीद भी होम डिलीवरी वालों के समान ही काटी गई। जिसे उन्होंने गंभीर माना और डीएसओ को अन्य गैस एजेंसी के रजिस्टर चैक करने के निर्देश दिए।

Spread the love