अटल आयुष्मान योजना के गोल्डन कार्ड पर अब पैरा मिलिट्री फोर्स के अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा मिलेगी।

अटल आयुष्मान योजना के गोल्डन कार्ड पर अब पैरा मिलिट्री फोर्स के अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा मिलेगी। राज्य स्वास्थ्य अभिकरण ने प्रदेश में स्थापित एसएसबी, आईटीबीपी और सेंट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स (सीएपीएफ) के अस्पतालों को योजना में सूचीबद्ध कर लिया है।

केंद्र और राज्य की अटल आयुष्मान योजना में पैरा मिलिट्री फोर्स के अस्पताल सूचीबद्ध होने से सबसे ज्यादा लाभ प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों के लोगों को मिलेगा। पैरा मिलिट्री फोर्स के अधिकतर अस्पताल पर्वतीय जिलों में चल रहे हैं।

चमोली जिले के अंतर्गत एसएसबी हास्पिटल ग्वालदम, आठवीं बटालियन आईटीबीपी हास्पिटल गौचर, चंपावत में पांचवीं बटालियन एसएसबी, 36 बटालियन आईटीबीपी फोर्स चंपावत, देहरादून में आईटीबीपी हॉस्पिटल सीमाद्धार, नैनीताल में यूनिट हॉस्पिटल आईटीबीपी, उत्तरकाशी में 35 बटालियन आईटीबीपी हॉस्पिटल महिडांडा, 12 बटालियन आईटीबीपी मातली के अलावा चमोली के औली में माउंटेरिंग एंड स्किल इंस्टीट्यूट हॉस्पिटल में गोल्डन कार्ड धारक को मुफ्त इलाज की सुविधा मिलेगी।

पैरा मिलिट्री फोर्स के अस्पतालों में सैनिकों व उनके आश्रितों को ही इलाज मिलती है, लेकिन आयुष्मान योजना में सूचीबद्ध होने से अब गोल्डन कार्ड धारक भी इन अस्पतालों में इलाज करा सकते हैं। राज्य स्वास्थ्य अभिकरण ने इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को आदेश जारी कर दिए हैं।

पैरा मिलिट्री फोर्स के अस्पतालों को योजना में सूचीबद्ध करने से आयुष्मान कार्ड धारकों को सीधे उपचार की सुविधा मिलेगी। इसके लिए उन्हें रेफर करने की आवश्यकता नहीं होगी। एसएसबी और आईटीबीपी के अधिकतर अस्पताल पर्वतीय क्षेत्रों में है। जिससे वहां के कार्ड धारकों को इससे ज्यादा फायदा मिलेगा। – डॉ. अभिषेक त्रिपाठी, निदेशक (प्रशासन), राज्य स्वास्थ्य अभिकरण।

Spread the love